जीवन में प्रेम चाहिए , केवल प्रेम Jivan mein prem chahie , keval prem

एक घर की देहरी पर तीन देवदूत प्रकट हुए। उन्होंने घर का दरवाजा खटखटाया , अंदर से एक महिला बाहर आई , दरवाजा खोला तो सामने ऐसे तीन लोग नजर आए जिनके चेहरे पर एकअलग आभा थी। उसने सोचा जरूर यह लोग देवलोक से आए हुए देवदूत है। उसने तीनों को घर में आने का न्योता दिया कि वे अंदर पधारें।

तीनों में से एक ने कहा – हम तीनों में से कोई एक तुम्हारे घर के अंदर आ सकता है। यह मेरे दाहिनी और धन है और बायीं और यश है और मैं हूं प्रेम। हम तीनों में से जिसे तुम चाहो अपने घर में बुला सकती हो‌।

महिला घर के अंदर गई , पति से बातचीत की। पति ने कहा – अरे , सभी को धन की आवश्यकता रहती है। हम सारी ताकत धन कमाने में ही तो लगाते हैं। जा बाहर और धन को बुला कर ले आ ।

बेटे ने कहा – घर में पहले से ही इतना पैसा है कि उसे भी ना जाने कहां – कहां छिपाकर रखना पड़ता है। आपको यश पुरा न मिला , मैं तो यश को निमंत्रण दे देता हूं ‌। पति ने कहा जैसी तेरी मर्जी।

महिला जैसे ही बाहर जाने को हुई कि घर में ऊपर से छोटी बहू नीचे उतर कर आई और देवदूत कहने लगी – मम्मी जी , मैंने आपकी और पापाजी की बात सुनी और बाहर खड़े देवदूतों की बात भी सुनी। अगर आप मेरी माने तो उनमें से जो प्रेम है उसे घर में लेकर आ जाएं क्योंकि जहां प्रेम होगा वहां घर – परिवार में अपने आप ही खुशहाली और स्वर्ग हो जाएगा। न जाने उस महिला को क्या सूझा वह बाहर आई और बोली – देवदूतों !आप में से जो प्रेम हैं वह मेरे घर में आ जाए।

प्रेम मुस्कुराया और कहा – मैं नहीं जानता कि तुम्हें यह सलाह किसने दी लेकिन जिसने भी यह सलाह दी है मैं उसकी पीठ थपथपाता हूं। यह कहते हुए प्रेम घर के अंदर प्रविष्ट होने लगा कि धन भी उसके पीछे-पीछे अनुगमन करने लगा। जैसे ही धन ने कदम बढ़ाया कि यश ने भी अपने कदम घर की ओर बढ़ा दिए।

महिला ने कहा – मुझे एक बात समझ में नहीं आई , आपने तो कहा था तीन में से कोई एक आएगा लेकिन आप तो तीनों ही मेरे घर में आ रहे हैं।

प्रेम ने कहा – बहन , अगर तुम केवल धन मांगती तो हम दोनों वापस लौट जाते हैं , केवल यश मांगती तो भी हम दोनों लौट जाते लेकिन तुमने प्रेम मांगा और जहां प्रेम होता है वहां धन और यश तो अपने आप चले आते हैं।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s